टीबी से ग्रसित बच्चों को लिया गोद प्रदान की पोषण सामग्री

अन्य

दिव्य विश्वास,सवांददाता

अलीगढ़। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अहान पर टीबी उन्मूलन में प्रगति फाउंडेशन सहयोगी संस्था ने 20 बच्चों को गोद लिया है। संस्था उपचार व स्वास्थ्य की पूरी जिम्मेदारी निभाने का संकल्प कराएगी ।
प्रगति फॉउंडेशन की तरफ से गोद लिए टीबी से ग्रसित 20 बच्चों में से पांच
बच्चों को खेरेश्वर मंदिर के पास, जीवनगढ़, कंपनी बाग में प्रगति चौहान ने ठिठुरती सर्दी में उनके घर जाकर पोषण सामिग्री प्रदान की।‌‌ इसमें फल एवं प्रोटीन युक्त सोयाबीन व दाल आदि शामिल थी। इसके अलावा मास्को ज्ञान वर्धक पुस्तकें भी प्रदान की । यह सभी सामग्री पाकर मासूम बच्चों के चेहरे पर मुस्कान दिखाई दी।
प्रगति चौहान ने कहा कि लक्ष्मी वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष डा.विभव वार्ष्णेय से प्रेरणा लेकर गोद लिए गए बच्चों को इलाज चलना तक उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पोषण की जिम्मेदारी संभालेंगी और जब तक बच्चे पूर्ण रूप से क्षय रोग से स्वस्थ नही हो जाते तब तक के लिए उनका समय-समय पर फॉलोअप भी करती रहेंगी‌। इसके साथ ही उन्होंने टीबी के लक्षणों के बारे में भी सभी को बताया कि दो हफ्ते अथवा उससे अधिक की खांसी टीबी हो सकती है और अधूरा इलाज के कारण ये गंभीर वाली टीबी में बदल जाती है। इसलिए इलाज हमेशा पूरा करना चाहिए जिससे ये गम्भीर टीबी में न बदले ।
इसके अलावा सर्दी कम होते ही सभी 20 बच्चों का स्वास्थ्य चेक अप भी करवाया जाएगा जिससे उनके बीच से टीबी जैसी बीमारी को पूर्ण रूप से खत्म कर सकें। उसके बाद ही हम सभी प्रधानमंत्री के स्वपन के अनुरूप 2025 तक भारत से टीबी खत्म कर पाएंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *