अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बने बाइडन, भारतीय मूल की कमला हैरिस ने ली उपराष्ट्रपति पद की शपथ

अन्य देश-दुनिया

 

 
 


नई दिल्ली(एजेंसी)

जो बाइडेन ने बुधवार को 46वें अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली। इसी के साथ अमेरिका में आज से बाइडेन युग की शुरुआत हो गई। जो बाइडेन के अलावा कमला हैरिस ने उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली। वो इस पद पर काबिज होने वाली अमेरिका की पहली महिला हैं। शपथ ग्रहण समारोह कैपिटल हिल में हुआ। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश, बिल क्लिंटन और बराक ओबामा समारोह में मौजूद रहे। कड़ी सुरक्षा के बीच अमेरिका में ये समारोह हुआ।

सबकी तरक्की और सबकी रक्षा के लिए हूं: बाइडेन

 

राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि हमने जिंदगी में बहुत सारी चुनौतियां देखी है। अमेरिका में सबको सम्मान मिलेगा। अमेरिका की सेना सशक्त है, हर चुनौती के लिए तैयार है। मैं अमेरिका के सभी लोगों का राष्ट्रपति हूं। मैं उनका भी राष्ट्रपति हूं जिन्होंने मुझे वोट नहीं दिया। मैं सबकी तरक्की और सबकी रक्षा के लिए हूं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि आज हम एक उम्मीदवार की नहीं बल्कि लोकतंत्र की जीत का जश्न मना रहे हैं। लोगों को सुना गया है। हमने फिर से सीखा है कि लोकतंत्र अनमोल है, लोकतंत्र प्रबल है। जो बाइडेन ने कहा कि मुझे पता है कि हमें विभाजित करने वाली ताकतें गहरी हैं और वे वास्तविक हैं। लेकिन मुझे ये भी पता है कि वो नई नहीं हैं। हमारा इतिहास एक निरंतर संघर्ष रहा है।

कमला हैरिस ने ली उपराष्ट्रपति पद की शपथ

 

कमला हैरिस ने अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली।उन्होंने अमेरिका की पहली महिला, पहली भारतवंशी, पहली अश्वेत उपराष्ट्रपति बनकर इतिहास रच दिया। वो अमेरिका की 45वीं उपराष्ट्रपति बनीं।‘फीमेल ओबामा’ के नाम से लोकप्रिय हैरिस सीनेट की सदस्य भी पहली बार ही बनी थीं। नवम्बर में अपनी जीत के बाद ऐतिहासिक भाषण में हैरिस ने अपनी दिवंगत मां श्यामला गोपालन, भारत की एक कैंसर शोधकर्ता और नागरिक अधिकार कार्यकर्ता को याद करते हुए कहा था कि उन्होंने उनके राजनीतिक करियर में इस बड़े दिन के लिए उन्हें तैयार किया था। उन्होंने यह भी कहा था कि वह उपराष्ट्रपति पद पर काबिज होने वाली पहली महिला हो सकती हैं, लेकिन वह अंतिम नहीं होंगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *