पीएम मोदी कल करेंगे मंत्रिपरिषद की मीटिंग, कोविड के हालात समेत इन मुद्दों पर हो सकती है बात

देश देश-दुनिया नई दिल्ली राजनीति

देश में कोरोना के डेल्टा प्लस के खौफ के बीच कई मंत्रालयों में फेरबदल की अटकलें भी लगाई जा रही हैं। ऐसे में मंत्रिपरिषद की मीटिंग बेहद अहम होने जा रही है।
नई दिल्ली: कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को केंद्रीय मंत्री परिषद की बैठक की अध्यक्षता करेंगे। सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि इस मीटिंग में कोविड संबंधी हालात पर चर्चा होने की संभावना है और कुछ मंत्रालयों के कामकाज की समीक्षा भी की जा सकती है।
सूत्रों ने बताया कि यह बैठक बुधवार शाम को डिजिटल तरीके से होगी। उन्होंने बताया कि बैठक में सड़क एवं परिवहन मंत्रालय, नागर विमानन मंत्रालय और दूरसंचार मंत्रालय के कामकाज की समीक्षा की जा सकती है। इसमें कोविड-19 संबंधी हालात पर विस्तृत चर्चा भी हो सकती है।
एक हफ्ते पहले ही पीएम ने कीं कई बैठकें
इससे करीब एक हफ्ते पहले प्रधानमंत्री ने मंत्रियों एवं राज्य मंत्रियों के विभिन्न समूहों के साथ बैठकें की थीं और उनके मंत्रालयों के प्रदर्शन की समीक्षा की थी। ये बैठकें प्रधानमंत्री मोदी के आधिकारिक आवास पर हुई थीं और ज्यादातर बैठकों में भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा उपस्थित रहे थे। सियासी पर्यवेक्षकों और भाजपा के अंदरूनी सूत्रों का मानना है कि मंत्री परिषद की बैठकों का ऐसे समय में होना विशेष महत्व रखता है जब राजनीतिक गलियारों में मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल की अटकलें चल रही हैं।
वित्त मंत्री का पैकेज ढकोसला
विपक्ष कोविड के हालात को लेकर लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर है, ऐसे में ये मीटिंग और भी अहम होने जा रही है। हर रोज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश में लगे हुए हैं। आज ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से 1।1 लाख करोड़ रुपये की रिण गारंटी योजना समेत कई कदमों की घोषणा किए जाने को ‘एक और ढकोसला’ करार देते हुए मंगलवार को कहा कि इस ‘आर्थिक पैकेज’ से कोई परिवार अपने रहने, खाने, दवा और बच्चे की स्कूल की फीस का खर्च वहन नहीं कर सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *