प्रतिबंध के बावजूद तीर्थनगरी में ज्येष्ठ दशहरा पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल

बृजघाट: कोरोना संक्रमण का खतरा होने के बावजूद महामारी पर आस्था भारी पड़ी। ज्येष्ठ दशहरा के माैके पर ब्रजघाट में गंगास्नान पर रोक के बाद भी हजारों की संख्या में श्रद्धालु ब्रजघाट पहुंच गए। दूरदराज से आए श्रद्धालुओं ने गंगा में स्नान किया। भीड़ का आलम यह था कि घाटों पर पांव रखने की भी जगह नहीं थी। शारीरिक दूरी की जमकर धज्जियां उड़ीं। इतना ही नहीं पार्किंग स्टैंड और हाईवे पर जाम के हालात बने रहे।

ज्येष्ठ दशहरा के मौके पर श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी।

श्रद्धालुओं को देख लॉकडाउन में खुली दुकानें, घाटों पर उमड़ी भीड़
रविवार को ज्येष्ठ दशहरे पर्व को देखते हुए पूर्व में ही पुलिस-प्रशासन ने ब्रजघाट में इस बार स्नान को पूरी तरह प्रतिबंधित किए जाने की प्लानिंग तैयार की थी। इसके लिए शनिवार को ब्रजघाट में पुलिस-प्रशासनिक अफसरों के साथ ही स्थानीय व्यापारियों, प्रबुद्धजनों आदि की बैठक में रविवार को स्नान पर रोक लगने और बाजार बंद रहने की जानकारी भी दी गई, लेकिन श्रद्धालुओं की रिकार्ड भीड़ वहां नजर आई। घाटों पर पांव तक रखने की जगह नहीं थी।

प्रतिबंध पर भारी पड़ी आस्था,सैकड़ो श्रद्धालुओं ने कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाकर किया गंगास्नान

लाउडस्पीकर से घाट खाली करने का हुआ औपचारिक ऐलान
भीड़ का आलम यह था कि लोग अपनी बारी आने के लिए प्रतीक्षा करते नजर आए। इस दौरान शारीरिक दूरी भी धड़ाम हो गई। खास बात यह रही कि घाटों पर पुलिस नजर तो आई, लेकिन उसने श्रद्धालुओं को स्नान ने रोकने की कोशिश नहीं की। मीडियाकर्मियों के कैमरे को देख उन्होंने गंगा आरती मंदिर के लाउडस्पीकर से घाट खाली करने का औपचारिक एलान अवश्य किया और फिर शांत होकर बैठ गए।
हाईवे पर जाम के हालात
वहीं ब्रजघाट में पार्किंग स्टैंड और हाईवे पर जाम के हालात नजर आए। जबकि गंगा नगरी में श्रद्धालुओं के जन सैलाब को उमड़ा देख स्थानीय व्यापारियों ने भी लाकडाउन और अधिकारियों के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए बाजार खोल दिया। जिससे स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने जमकर खरीददारी की। उसके बाद श्रद्धालुओं ने गंगा नगरी में स्थित मंदिरों के दर्शन किए। एसडीएम विजय वर्धन तोमर का कहना है कि गंगा नगरी में मात्र अस्थी विसर्जित करने वाले श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जा रहा है। कुछ श्रद्धालु लिंक मार्ग से ब्रजघाट के स्नान करने के आ गए थे, जिनको वापस भेज दिया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *