मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की घोषणा, मुज़फ्फरनगर में 6 ऑक्सीजन प्लांट ओर लगेंगे

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल

 मुज़फ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य योगी नाथ ने सोमवार को जनपद का दौरा कर कोविड उपचार की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह से तैयार है। सुबह 11:00 बजे मुख्यमंत्री मुजफ्फरनगर पहुंचे। यहां रिजर्व पुलिस लाइन में उनका हेलीकॉप्टर उतरा। मुख्यमंत्री का स्वागत करने के लिए जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे, एसएसपी मुजफ्फरनगर अभिषेक यादव के साथ-साथ केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान, कौशल विकास मंत्री कपिल देव अग्रवाल और बुढ़ाना से विधायक उमेश मलिक, पुरकाजी विधायक प्रमोद ऊंटवाल मौजूद रहे।
जिला पंचायत सभागार में बैठक में संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सरकार तैयारी के साथ जुटी है। उपचाराधीनों को ऑक्सीजन की कोई किल्लत नहीं होने दी जाएगी। मुजफ्फरनगर में छह ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे। जरूरत मंदों को सभी जनपद में कम्युनिटी किचन की व्यवस्था की गई है। कोविड की आनेवाली वेव के लिए तैयारियां पूरी करने में सरकार जुटी हुई है। इसके अलावा प्रदेश में बच्चों के लिए वैक्सीन की व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्लैक फंगस के लिए अलग से कोविड हॉस्पिटल की व्यवस्था की जा रही है। केंद सरकार की ओर से सभी लोगों को पांच किलो राशन की व्यवस्था 20 मई से शुरू की जा रही है। मजदूरों को 1000 रुपए का भरण पोषण भत्ता जून से मिलना शुरू होगा। उन्होंने लोगों से अपील की है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें और जरूरत होने पर ही घर से बाहर निकलें।
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद में कोविड कमांड एंड कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। कोविड वार्डों का निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के विरुद्ध जंग जारी है। आबादी के लिहाज से देश का सबसे बड़ा प्रदेश होने के बाद भी पूरी तैयारी के साथ कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का सामना किया गया है। कोरोना संक्रमण में लगातार गिरावट आ रही है। प्रदेश में कोरोना के सबसे ज्यादा टेस्ट हुए हैं और रिकवरी रेट बढ़कर 90 प्रतिशत हो गया है। 18 वर्ष से अधिक आयु वाले चार लाख युवाओं को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा के समय हमें धैर्य रखना चाहिए। लोगों का मनोबल बढ़ाने की बजाय कुछ लोग भ्रांति फैलाने में लगे हैं। प्रदेश में एक समय अव्यवस्था की स्थिति बनी थी, लेकिन उस पर पूरी तरह से कंट्रोल कर लिया गया। मुख्यमंत्री ने रामपुर गांव का दौरा भी किया। रेपिड रिस्पांस टीम की सदस्यों से कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह से तैयार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *