हर पीड़ित के प्रति हमारी संवेदना महत्वपूर्ण :योगी आदित्यनाथ

अलीगढ़ मंडल उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया

अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कई लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के चलतेे हुई है। इस मामले में सीएम ने एएमयू के वीसी से चर्चा की तो उन्हेांने बताया कि यहां 16 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के चलते हो चुकी है। उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन के पहले चरण में बहुत से लोगों ने टीका नहीं लगवाया था जिसके चलते ऐसा हुआ,लेकिन अब सभी लोग इस अभियान से जुड़ चुके हैं। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ आज अलीगढ़ के दौरे पर आए और यहां कोविड के खिलाफ चल रही जंग की व्यवस्थाओ का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने जनप्रतिनिाधियों के साथ भी वार्ता की और आगे की रणनीति के बारे में चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां आक्सीजन की डिमांड की गयी थी। राज्य सरकार ने आक्सीजन की आपूर्ति के लिए कल से ही एलएमओ प्रारंभ कर दी है। जिन सुविधाओं की जरूरत होगी उसके लिए एएमयू प्रशासन,लोकल एडमिनिस्ट्रेशन व जनप्रतिनिधि मिलकर उसे पूरा करेंगे। इस समय मानवीय संवेदना महत्वपूर्ण है, हर पीड़ित के प्रति हमारी संवेदना होनी चाहिए। हम उसको संवेदनशील तरीके से बचाने का प्रयास कर सकें यही हमारी आज की आवश्यकता है। मैं अभिनंदन करता हूं हेल्थवर्करों का और उन सभी कोरोना वारियर्स का जिनके चलते इस कार्यक्रम को मजबूती मिली है। मेरी सबसेे विनती है कि बचाव की सर्वोत्तम उपाय है, लेकिन अगर कहीं किसी में कोई लक्षण है या आशंका है तो उसकी जांच कराएं। जांच से भागे नहीं न ही बीमारी को छिपाएं, इससे बीमारी समाप्त नहीं होगी बल्कि विकराल रूप धारण करेगी। इसलिए हमने एक सिस्टम बनाने का प्रयास किया है। हम महामारी से लड़ रहे हैं इसलिए बीमारी को छिपाएं नहीं। सरकार आपकी हर तरह से मदद कर रही है। वैक्सीन,दवा सब फ्री है। इस काम में भारत सरकार भी मदद कर रही है इसलिए बीमारी को छिपाने के बजाय इलाज कराने के लिए आगे आएं। जो भी गाइडलाइन बनायी गयी है उसका पालन करें। इस बात का ध्यान दें कि कहीं संक्रमण की चेन स्प्रेड न हो, इसके चेन को ब्रेक करने की आवश्यकता है। खासतौर पर मीडिया के माध्यम से लोगों को जागरूक करें। हाइरिस्क वाले 60 साल से ऊपर के लोग या दस वर्ष से कम उम्र के बच्चे, गर्भवती महिलाएं, गंभीर रूप से ग्रसित लोग घर से बाहर न निकलें, घर में भी मास्क का प्रयोग करें। अगर किसी को जरूरी काम से घरसे बाहर निकलना हो तो वो मास्क जरूर लगाएं और यदि लेन देन कर रहे हैं तोग्लब्स जरूर पहनें और सैनिटाइजर का प्रयोग करे। टीम वर्क ही रिजल्ट देगी, अभी तक टीम वर्क ने ही रिजल्ट दिया है। प्रदेश की निगरानी समिति और आरआरटी के द्वारा जो कार्य प्रारंभ हुआ है विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी उसकी सराहना की है। हम लोग इस अभियान में निरंतरता बनाए रखेंगे । प्रत्येक व्यक्ति चाहेे वह होटल में हो या घर पर अगर कोविड पाजिटिव है तोउसका फ्री में उपचार और मेडिकल किट की सुविधा उपलब्ध कराया जाय। कहीं भी किसी भी प्रकार की कमी न रह जाये ये हमारा प्रयास रहेगा।
महामारी की समीक्षा के लिए आया हूं
सीएम मुख्यमंत्री ने कहा कि वे अलीगढ़ व आगरा मंडल के कोविड महामारी की समीक्षा के लिए आए हैं। अभी अलीगढ़ मंडल की समीक्षा ली है। वे हर दिन प्रदेश के प्रत्येक मंडल के प्रत्येक जनपद की समीक्षा कर रहे हैं। वे वर्चुअली सभी से जुड़ते हैं और वार्ता करते हैं। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने बीते कुछ दिनों से फील्ड में उतरकर इस महामारी के खिलाफ अभियान में सहभागिता की है। बीते 12 दिनों के अंदर अगर कोरोना केसों की संख्या देखी जाय तो एक लाख छह हजार केेस कम हुए हैं। प्रदेश सरकार ने ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की जिस नीति को आगे बढ़ाया है उसमें प्रधानमंत्री का मार्गदर्शन मिलता रहा है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में हम पहले दिन से ही जुड़ेे हुए हैं। कोरोना की दूसरी लहर की पर भी हम लोगों ने नियंत्रण स्थापित किया है।लगातार हम इस संक्रमण की चेन को ब्रेक करने पर काम कर रहे हैं। व्यापक पैमाने पर टेस्ट हो रहे हैं। प्रदेश के अंदर अब तक चार करोड़ 36 लाख से जयादा टेस्ट हो चुके हैं। प्रदेश में पहली लहर की अपेक्षा दूसरी लहर में आक्सीजन की मांग बढ़ी है। अचानक आयी इस समस्या में प्रधानमंत्री ने एयरफोर्स के जहाजों और रेलवे के माध्यम से मदद पहुंचायी है। आज आक्सीजन एक्सप्रेस और वायुसेना की मदद से आक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। प्रदेश में सामान्य दिनों में तीन सौ मीट्रिक टन आक्सीजन की खपत होती थी जो दूसरी लहर में बढ़कर एक हजार मीट्रिक टन से ज्यादा प्रतिदिन हो गयी है। कल हम लोगों ने एक हजार 30 मीट्रिक टन की आपूर्ति की है जो लगातार जारी है। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच ग्रामीण क्षेत्रों में संदिग्ध मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। आक्सीजन की आपूर्ति के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड से सहायता प्रदेश मे अब तक एक करोड़ 43 लाख लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं।
आक्‍सीजन की आपूर्ति के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड से सहायता
प्रेदश में आक्सीजन केे संकट को दूूूर करने के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड से 161 आक्सीजन प्लांट लगाने की सहमति मिली है, इनमें से कुछ पर काम चल भी रहा है। राज्य सरकार भी अपने संसाधनों से अलग अलग विभाग से आक्सीजन प्लांट लगाए हैं। 377 नए आक्सीजन प्लांट पर काम चल रहा है। प्रदेश मेें बेड की क्षमता भी बढ़ायी गयी है। इस समय एल-वन, एल-टू बेड की संख्या 80 हजार है। इनकी संख्या और बढ़ायी जा रही है। कोरोना की दूसरी लहर में आशंका जतायी गयी थी कि 5 से 10 मई के बीच एक लाख से अधिक पाजिटिव केस आएंगेे लेकिन आज 13 मई है और कुल 17 हजार पाजिटिव केस आए। इसलिए लापरवाही छोड़नी पड़ेगी और सतर्कता बरतनी होगी। हमने तीसरे लहर को ध्यान में रखकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस समय ब्लैक फंगस के रूप में कोविड का इफेक्ट देखने को मिल रहा है। इसके उपचार की व्यवस्था लखनऊ से शुरू हो गयी। इसके बारे में सेमिनार कर अभियान को आगे बढ़ाया जाएगा। हमने अस्पतालों में एयर सेपरेटर, प्लांट आक्सीजन आपूर्ति के लिए लगाए हें। दूरदराज के क्षेत्रों में सीएचसी में भी आक्सीजन की आवश्यकता है यहां हमने 20 हजार से भी ज्यादा आक्सीजन कंसंटेटर उपलब्ध कराये हैं। यहां एक्टिवकेस कम हो रहे हैं।
14 नए आक्‍सीजन प्‍लांट की अनुमति
14 नए आक्सीजन प्लांट की अनुमति मंडल में 14 नए आक्सीजन प्लांट स्वीकत हुए हैं जिसमें 3 क्रियाशील हैं और शेष की तैयारी चल रही है। अलीगढ़ मंडल में अब तक 4 लाख 13 हजार दो सौ 80 टीके 45 प्लस वाले लोगों को लगाया जा चुका है, जिन 18 जनपदों में टीकाकरण शुरू हुआ है उसमें अलीगढ़ भी है। यहां अब तक 18 प्लस वालेे 5721 लोगों को टीका लगाया चुका है। मंडल में कुल 85 एंबुलेंस कोविड के लिए लगाए गए हैं। यहां पर प्रशासन को कहा गया है कि 108 की 75 फीसदी एंबुलेंस को कोविड के लिए लगाया जा सकता है।
सीएम ने जाना बरौली विधायक का हाल-चाल
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलीगढ़ आगमन पर जिलाधिकारी से बरौली विधायक ठा.दलवीर सिंह का हाल चाल जाना तथा उनके शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की। अलीगढ़ के प्रभारी मंत्री सुरेश राणा आज बरौली विधायक से मिलने उनके ए.डी.ए. स्थित आवास पहुंचे । वहां पर उन्होंने बरौली विधायक से मुलाकात कर उनकी स्वास्थ्य की जानकारी ली तथा अलीगढ़ की समस्याओं के संबन्ध में विचार विमर्श किया। प्रभारी मंत्री 25 मिनट आवास पर रूके उनके साथ भाजपा जिलाध्यक्ष ऋषिपाल सिंह भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *