कोरोना से जंग जीतकर मैदान में उतरे राज्यमंत्री सुनील भराला, मेरठ मेडिकल कॉलेज का किया निरीक्षण

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल

लगभग एक महीने से राज्यमंत्री सुनील भराला थे कोरोना पॉजिटिव,नेगेटिव रिपोर्ट आते ही मैदान पर उतरकर किया मेरठ मेडिकल कॉलिज का निरीक्षण
मेरठ: उत्तरप्रदेश के जनपद मेरठ में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मंगलवार को मेरठ मेडिकल कॉलिज में मरीजों का हालचाल लेने उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री पंडित सुनील भराला पहुचे। उन्होने मेरठ मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया और साथ ही मरीजों की समस्याएं सुनी। समस्याएं सुनने के बाद मेडिकल स्टाफ को बेहतर से बेहतर इलाज करने के लिए दिशा-निर्देश दिए।
जमीनी नेता सुनील भराला ने मेडिकल कॉलेज पहुंच जाना मरीजों का दर्द
आपको बतादें के राज्यमंत्री पंडित सुनील भराला अप्रैल माह में कोरोना पॉज़िटिव हो गए थे। उसके उपरांत मातृ सदन भराला में एकांतवास में रहे। लगभग महीने भर में कोरोना से जंग जीतने के बाद जैसे ही वो ठीक हुए और डॉक्टरों ने उन्हें जाने की इजाज़त दी। इसीलिए वो आज मेरठ मेडिकल कॉलेज पहुचे। मेडिकल प्रांगण में दो घंटे में पूरी बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होने भोजन व्यवस्था का भी निरीक्षण किया जहां भोजन स्वच्छ व अच्छी क्वालिटी में दिया जा रहा है। मरीज़ों के लिए बने कंट्रोल रूम में बैठकर मरीज़ों के हाल चाल भी लिए। जिस कण्ट्रोल रूम में मरीज़ों के तीमारदार अपने मरीज़ के बारे में हालचाल जानते हैं उसमें प्रतिदिन लगभग 70- 110 तक फोंन आते हैं, मरीज़ों का हाल देते हैं। मेडिकल कॉलेज का स्टाफ़ उनके फ़ोन नंबर लगाते है मरीज़ का नाम लिखता है और तीमारदारों की बातचीत कराते है। वही निरीक्षण के दौरान भराला ने जूनियर डॉक्टरों से भी बातचीत की और धन्यवाद दिया जो रात-दिन परिश्रम कर रहे। वही राज्यमंत्री ने इस दौरान मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य तथा सीएमएस को निर्देश दिया कि आप इस टाइप की कमी को देखते हुए पूर्व सैनिक डॉक्टरों को कोरोना योद्धाओं में लगाने का काम करे तथा बोर्ड नर्स की कमी पूरी करने के लिए विज्ञापन निकाले। साथ ही साथ ही भराला ने इस दौरान वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से 30 मरीज़ों को तीमारदारों से मिलाने का काम भी किया।
आज हमें कमियां खोजने की आवश्यकता नहीं
सुनील भराला ने कहा आज हमें कमियां खोजने की आवश्यकता नहीं है। मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों व कर्मचारियों के लिए मनोबल बढ़ाने की आवश्यकता है। हम कंधे से कंधा मिलाकर के डॉक्टरों के साथ खड़े हुए हैं। डॉक्टरों के साथ पूरी सरकार खड़ी हुई है। कोरोना मरीज़ का अच्छे से अच्छा इलाज हो, तीमारदार को मरीज़ के बारे में पूरी जानकारी दी जाए ऐसा भी उन्होने निर्देश किया है। उनके साथ ही मेडिकल कॉलेज का पूरा स्टाफ़ व मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डा.ज्ञानेन्द्र सिंह, सीएमएस धीरज बालियान सहित कई अधिकारीगण निरीक्षण के दौरान उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *