जेल से रिहाई का तो पता नहीं,पर विम्स में उपचाराधीन कोरोना से रिहाई पाकर झूम उठे 22 कैदी

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल
  •  विषम परिस्थितियों में कोरोना का प्रभावी उपचार देने में सफल रहा वेंक्टेश्वरा:डा.सुधीर गिरि
  • हम कोरोना महामारी के खिलाफ इस निर्णायक लड़ाई में प्रशासन के सहयोग से जीत की ओर अग्रसर:डा.राजीव त्यागी

मेरठ: वेंक्टेश्वरा समूह के मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल विम्स में पिछले तीन दिनों में जनपद के अलग अलग थानों,कोतवालियों में विभिन्न मुकदमों में सजायाफ्ता 22 कोरोना संक्रमित कैदियों ने कोरोना को मात देते हुए जिंदगी की जंग जीत ली। इसके अलावा अब तक की सबसे वृद्ध 96 वर्षीय कोरोना संक्रमित मरीज चंन्द्रकांता आर्य ने अपने 63 वर्षीय कोरोना संक्रमित पुत्र सुधीर पाल आर्य के साथ अन्य सात लोगों ने भी कोरोना को हराते हुए सहकुशल घर वापसी की। अस्पताल प्रबन्धन, मुख्य चिकित्साधिकारी,अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, चिकित्सा अधीक्षक विम्स समेत अन्य अधिकारियों ने इन सभी कोरोना विजेताओं पर पुष्प वर्षा करके एवं इनको उपहार देकर सहकुशल उनके घरों को रवाना किया। बताते चले कि पिछले वर्ष भी विम्स हॉस्पिटल ने कोरोना उपचार में सभी रिकार्ड तोड़ते हुए ऐतिहासिक रुप से 2500 कोरोना संक्रमितो को ठीक कर उनकी सहकुशल वापसी करायी थी।
वेंक्टेश्वरा समूह के चेयरमैन डा.सुधीर गिरि ने कहा कि कोरोना की यह दूसरी लहर पहले से भी कहीं अधिक खतरनाक है लेकिन हम सब देशवासी एकजुट होकर इसको मात देने के लिए तैयार हैं। हमारे डॉक्टर्स एवं पैरामेडिकल स्टॉफ ने दिन रात कोरोना संक्रमित मरीजों का प्रभावी उपचार एवं देखभाल कर मानव सेवा की एक शानदार मिसाल पेश की है। डा. इकराम इलाही ने बताया कि आज ठीक होने वाले कैदियों में संजय (22 वर्ष), बुद्धा (32 वर्ष), दानिश (28 वर्ष), समीम (45 वर्ष), हरिलाल (54 वर्ष), धर्मपाल (35 वर्ष), पंकज त्यागी (35 वर्ष), डालचंद (35 वर्ष) के अलावा अन्य मरीजों में मनोज कुमार (28 वर्ष), फरमान रिजवी (52 वर्ष), शोभा भटनागर (50 वर्ष), जितेन्द्र गिरि (25 वर्ष), केशीपन्त (35 वर्ष), मनीषा गर्ग (40 वर्ष), योगेश कुमार (40 वर्ष), सुधीर पाल आर्य (63 वर्ष), चंद्रकांता आर्य (96 वर्ष) आदि शामिल रहे।
वेंक्टेश्वरा के प्रतिकुलाधिपति डा.राजीव त्यागी ने बताया कि विम्स के डॉक्टर्स,पैरामेडिकल एवं नर्सिग स्टॉफ दिन-रात अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों के कुशल उपचार के लिए डटे हुए है। हम निस्वार्थ भाव से देश से कोरोना के पूरी तरह खात्मे तक इसी तरह काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस अवसर पर डा. हरिदत्त नेमी, डा.इकराम इलाही, विम्स के वरिष्ठ सलाहाकार डा. आर.एन.सिंह, डा.सुशील शर्मा, डा.एस.सी.मिश्रा, डा. प्रांजल मिश्रा, डा.गोपाल यादव, डा. प्रभात श्रीवास्तव, नर्सिंग सुपरीटेंडेन्ट वेदवीर सिंह, अभिषेक समेत कई चिकित्सक, मेडिकल स्टॉफ एवं मीडिया प्रभारी विश्वास राणा उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *