सादगी के साथ मनाई वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की जयंती

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल

बागपत: महाराणा प्रताप स्कूल टटीरी में वीर शिरोमणि, महान क्रांतिकारी,अद्वितीय योद्धा महाप्रतापी मुगलों को तलवार पर तोलने वाले महान देशभक्त महाराणा प्रताप की जयंती सादगी के साथ मनाई गई।
इस अवसर पर राजेंद्र सिंह ठेकेदार ने कहा कि महाराणा प्रताप सच्चे देशभक्त एवं महान क्रांतिकारी थे। युवाओं को उनके पद चिन्ह पर चलना चाहिए। नीरज राजपूत ने कहा कि महाराणा प्रताप ने सनातन धर्म की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी,जिस समय समस्त योद्धा अकबर की शरण में चले गए थे,महाराणा अकेले युद्ध लड़ रहे थे। महाराणा ने कहा था कि,’वन में रहना स्वीकार मुझे, घास की रोटी से प्यार मुझे, यदि दास बनू इन आक्रांताओं का तो जग में जीना धिक्कार मुझे’। पहलाद सिंह सभासद ने कहा कि आज के परिपेक्ष में भी महाराणा प्रताप का कोई तोड़ नहीं है। उनका कोई सानी नहीं है। मनोज आर्य एडवोकेट ने कहा कि महाराणा प्रताप की कार्यशैली आज के परिपेक्ष में भी उतनी ही सार्थक है,जितनी जब थी। आज भी पश्चिम बंगाल और केरल में सनातन धर्म खतरे में है। जहां सनातन धर्म के अनुयाई कम होंगे वह भूभाग भारत से कट जाएगा। आज भी विदेशी घुसपैठिया रेहोंगिया सनातनी एवं राष्ट्र भक्त मुसलमानों को पश्चिम बंगाल में मार-मार कर भगा रहे हैं। जिस तरह से 1946 में डायरेक्ट एक्शन के दौरान करीब 12000 हिंदुओं को बिना वजह मार दिया गया था,उसकी पुनरावृत्ति बंगाल के अंदर हो रही है। हमारा पश्चिमी बंगाल के हिंदुओं से कहना हैं कि अब भारत का युवा जाग चुका है। पश्चिमी बंगाल को कश्मीर नहीं बनने देंगे। पूरे देश के युवा उनके साथ रहेंगे। जनपद बागपत के युवा भी भारी संख्या में पश्चिम बंगाल जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *