उत्तर प्रदेश: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने गौशालाओं को दिए ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर, 700 हेल्प डेस्क बनाने की तैयारी

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया लखनऊ मंडल

लखनऊ: कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की गौशालाओं में ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर उपलब्ध करा रही हैं। लेकिन बाद में अधिकारियों ने साफ किया कि मेडिकल इक्विपमेंट गौशालाओं में काम कर रहे कर्मचारियों के लिए उपलब्ध करवाई जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक प्रेस नोट में कहा है कि कोविड-19 महामारी के कारण उपजे विषम हालात के बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने हर जिले में गायों के संरक्षण के लिए हेल्प डेस्क गठित करने के काम में तेजी लाने के आदेश दिए हैं।
700 हेल्प डेस्क बनाए गए
एक बयान के मुताबिक योगी सरकार ने इसके अलावा सभी गौशालाओं को गायों और अन्य जानवरों के लिए ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर जैसे चिकित्सा उपकरणों से लैस करने के भी आदेश दिए हैं। बयान के मुताबिक कोविड-19 महामारी की मौजूदा सूरतेहाल के मद्देनजर गायों के संरक्षण के लिए राज्य के सभी जिलों में कुल 700 हेल्प डेस्क बनाई जा रही हैं। इसके अलावा 51 ऑक्सीमीटर और 341 थर्मल स्कैनर भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं।
बेसहारा पशुओं के लिए चारा बैंक
बयान में कहा गया है कि बड़ी संख्या में बेसहारा गायों को मुख्यमंत्री के प्रयासों के कारण गौशालाओं में आश्रय दिया गया है। सरकार ने बेसहारा पशुओं के खतरे से निपटने के लिए मौजूदा गौशालाओं की संख्या को तेजी से बढ़ाया हैं। ​पूरे आकंड़े देते हुए बताया गया कि 5268 गौ रक्षा केंद्रों से राज्य में अब तक 5,73,417 बेहसाया पशुओं के देखभाल की जाती है। इसके अलावा राज्य में गौ अभयारण्य भी हैं। बयान में बताया गया कि योगी सरकार में चारा बैंकों की स्थापना भी हुई, तो बेसहारा पशुओं के लिए खाना मुहैया कराते हैं। राज्य में अभी 3,452 चारा बैंक हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *