दिल्ली सरकार ने लगाई नई पाबंदियां, यहां जाने और किस पर लगी रोक

देश देश-दुनिया नई दिल्ली

दिल्ली में स्थिति पिछले साल की तरह एक बार फिर चिंताजनक होती जा रही है। हालात बेकाबू ना हो उसे पहले ही दिल्ली सरकार ने सख्ती करते हुए कोविड-19 की नई गाइलाइन जारी कर दी है।

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। स्थिति पिछले साल की तरह एक बार फिर चिंताजनक होती जा रही है। हालात बेकाबू ना हो उसे पहले ही दिल्ली सरकार ने सख्ती करते हुए कोविड-19 की नई गाइलाइन जारी कर दी है। दिल्ली सरकार ने नई गाइडलाइन के तहत दिल्ली में इस बार बहुत सी नई पाबंदियां लगाई हैं। डीडीएमए के द्वारा जारी आदेश के मुताबिक नई गाइडलाइन तत्काल प्रभाव से लागू होंगी और 30 अप्रैल तक जारी रहेंगी।
दिल्ली सरकार की कोविड को लेकर ये हैं नई गाइडलाइंस
शादी समारोह में 50 मेहमानों की अनुमति
राजधानी में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने आदेश निकाला है कि मेट्रो, डीटीसी और क्लस्टर बसें 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति दी की गई है। इसके अलावा शादी समारोह में 50 मेहमान ही शामिल हो सकेंगे। सरकार ने सभी तरह की सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक और धार्मिक सभाओं पर भी रोक लगा दी है। वहीं अंतिम संस्कार में 20 लोगों से अधिक के शामिल होने की इजाजत नहीं होगी।
कॉलेज और कोचिंग संस्थान बंद
दिल्ली में सभी कॉलेज, प्रशिक्षण एवं कोचिंग संस्थानों को बंद कर दिया गया है, लेकिन शैक्षणिक मार्गदर्शन के लिए 11वीं-12वीं के छात्रों को स्कूल बुलाने की अनुमति प्रदान की गई है। इनको छोड़कर दिल्ली के बाकी सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल भी 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे।
72 घंटे के अंदर दिखाएं आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट
महाराष्ट्र से फ्लाइट के जरिए दिल्ली आने वाले यात्रियों के लिए 72 घंटे के अंदर आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट पेश करना जरूरी होगा और नेगेटिव रिपोर्ट नहीं होने पर 14 दिन के क्वारंटीन में रहना होगा।
दिल्ली में रेस्तरां, बार को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति रहेगी। इसी के ही साथ नेशनल और इंटरनेशनल कार्यक्रमों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों की ट्रेनिंग को छोड़कर दिल्ली में तरण ताल बंद रहेंगे।
स्टेडियम खुलेंगे लेकिन दर्शकों को अनुमति नहीं
आदेश के मुताबिक, स्टेडियम खेल प्रतियोगिताएं आयोजित कर सकते हैं लेकिन दर्शकों को अनुमति नहीं दी जाएगी। इसी तरह, सिनेमा, थियेटर, मल्टीप्लेक्स को उनकी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति रहेगी।
सरकारी कार्यालयों में भी 50 फीसदी कर्मचारी किये गए
दिल्ली सरकार के सभी कार्यालयों में 50 फीसदी कर्मचारी ही उपस्थित रह सकते हैं। बाकी के कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम करेंगे। प्राइवेट दफ्तरों और ऑर्गेनाइजेशन को सलाह दी गई है कि वह अलग-अलग टाइमिंग पर अपने कर्मचारियों को बुलाएं जिससे सारा स्टाफ एक समय पर ऑफिस में इक्कठा ना हो। वर्क फ्रॉम होम जितना हो सके उतना किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *