कोरोना के बढ़ते कहर को देख दिल्ली के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल बंद

देश देश-दुनिया नई दिल्ली

दिल्ली सरकार ने राजधानी के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है. इस दौरान सभी क्लासेस के लिए स्कूल बंद रहेंगे।
नई दिल्‍ली: राजधानी दिल्ली में एक बार फिर कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। ऐसे में केंद्र शासित प्रदेश की सरकार संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए कई सख्त कदम उठा रही है। इसी कड़ी में सरकार ने राजधानी के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। आदेश के मुताबिक इस दौरान सभी क्लासेस के लिए स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने खुद ट्वीट कर ये जानकारी साझा की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा,‘कोविड के बढ़ते मामलों के कारण, दिल्ली में सभी स्कूल (सरकारी, प्राइवेट सहित),सभी क्लासेज के लिए अगले आदेश तक बंद किए जा रहे हैं।’
बढ़ते मामलों के बीच आरजीजीएसएच कोविड हॉस्पिटल में तब्दील
इससे पहले दिल्ली सरकार ने राजधानी में नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला भी लिया है। हालांकि अभी कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी जारी है। ऐसे में दिल्ली सरकार के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल (आरजीजीएसएच) को राष्ट्रीय राजधानी में कोरोनावायरस के मामले बढ़ने के मद्देनजर एक बार फिर पूरी तरह से कोविड-19 अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है।
अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि अगले आदेश तक सभी गैर कोविड-19 सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है। पूर्वी दिल्ली में स्थित आरजीजीएसएच में 650 बिस्तरों की सुविधा है और उसने पिछले साल शहर में महामारी से लड़ने में अहम भूमिका निभाई थी। आरजीजीएसएच के चिकित्सा निदेशक बी.एल शेरवाल ने कहा,”हमने सभी गैर कोविड-19 सेवाओं को निलंबित कर दिया है,क्योंकि अस्पताल अब पूरी तरह से कोविड-19 चिकित्सा केंद्र बन गया है। संक्रमण के मामले बढ़ने के मद्देनजर बुधवार देर रात यह फैसला लिया गया। अभी तक अस्पताल में 200 मरीज भर्ती हैं।”
शेरवाल ने कहा,”इस बार मामले काफी ज्यादा बढ़ रहे हैं और लोगों को वास्तव में सावधानी बरतने तथा कोविड-19 संबंधी सभी सुरक्षा उपायों का पालन करने की जरूरत है। पांच मार्च को हमारे पास एक भी मरीज नहीं था और अब 200 हैं। ज्यादातर मरीज बुजुर्ग हैं।” युवा भी संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं लेकिन उनमें से कई होम आइसोलेशन में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *