इंतजार खत्म, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर कल से भरे फर्राटा

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल

मेरठ : दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के यूपी गेट से डासना और डासना से मेरठ तक का रास्ता एक अप्रैल से खुल जाएगा। हालांकि पहले एक्सप्रेस-वे बुधवार यानी 31 मार्च को खोला जाना था,लेकिन कुछ तकनीकी अड़चनों के कारण एक्सप्रेस-वे खोलने की तिथि को एक दिन बढ़ा दिया है।
चौथे चरण की डासना से मेरठ तक एनएचएआई इसकी शुरुआत करेगा। 31.8 किमी के चौथे चरण को पूरी तरह तैयार कर लिया गया है। पिछले एक महीने से छह लेन के एक्सप्रेस-वे पर परतापुर से डासना तक वाहन 100 से 120 किमी की रफ्तार से दौड़ रहे हैं। एक्सप्रेस-वे शुरू होने पर दिल्ली से मेरठ की दूरी एक घंटा और गाजियाबाद से मेरठ पहुंचने में 30 मिनट लगेंगे।
डासना में मेरठ की ओर तैयार 700 मीटर की एलिवेटेड रोड पर लोड टेस्टिंग और अंतिम ट्रायल रन पूरा हो गया है। वहीं, मंगलवार को एनएचएआई की एक्सप्रेस-वे का काम पूरा होने की वीडियो सहित विस्तृत रिपोर्ट पर सड़क एवं परिवहन राजमार्ग मंत्रालय में मंगलवार को दिनभर चली बैठकों के बाद मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है। जीआर इंफ्रा और एनएचएआई के प्रोजेक्ट मैनेजर बुधवार को एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण करेंगे।
कैमरा, एंबुलेंस और टोल बूथ तैयार
मंगलवार को टोल प्लाजा पर 1033 लाइफ सेविंग एंबुलेंस और क्रेन तैनात कर दी गई है। लाइटिंग और टोल बूथ भी तैयार हो चुके हैं। चलती गाड़ी की नंबर प्लेट पर नजर रखने के लिए 170 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं। इस बीच टोल बूथ को काशी का नाम दिए जाने पर भी विरोध शुरू हो गया है।
चलती गाड़ी से कट जाएगा टोल टैक्स
एक्सप्रेस-वे देश का पहला एडवांस एक्सप्रेस-वे होगा। इस पर चलती गाड़ी से टोल टैक्स कट जाएगा। हर आठ से 10 किमी की दूरी पर एक्सप्रेस-वे की प्रत्येक लेन के ऊपर डिस्प्ले लगाई गई है, जिस पर चलते हुए वाहन की गति को देख सकेंगे। एक्सप्रेस-वे पर मालवाहक वाहन 80 और कारें 100 किमी प्रति घंटा की स्पीड से चल सकेंगी।
ताकि सुहाना बने सफर : रात में सफर को सुहाना बनाने के लिए एक्सप्रेस-वे पर बीच-बीच में रंग-बिरंगी लाइटें भी लगाई गई हैं। फुटपाथ व साइकिल ट्रैक पर अलग से प्रकाश की व्यवस्था की गई है। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का काम लगभग पूरा हो चुका है। सिर्फ टोल प्लाजा और यू-टर्न और अंडरपास और एफओबी के आसपास लाइट लगाई जा रही हैं।
एक्सप्रेस-वे की कुछ खास बातें

  • 80 से 100 किमी प्रति घंटा की स्पीड से दौड़ेंगे वाहन
  • 8 से 10 किमी की दूरी पर एक्सप्रेसवे की प्रत्येक लेन पर लगी डिस्प्ले में दिखेगी वाहन की स्पीड
  • एक्सप्रेसवे पर चढ़ने व उतरने के लिए डासना में पांच-पांच लेन उपलब्ध
  • एक्सप्रेसवे के दोनों ओर पांच-पांच लेने के टोल बूथ, सभी में 100 मीटर का अंतर
  • डासना से मेरठ तक एक्सप्रेसवे के चौथे चरण में 72 सीसीटीवी लगाए गए
  • दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे को कुशलिया में ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे से इंटरचेंज बनाकर जोड़ा, जिसमें टोल बूथ बनाए गए
  • एक्सप्रेस-वे के चरण संख्या-चार यानि मेरठ से डासना के 32 किमी खंड पर मेरठ के काशी गांव में 19 बूथों का टोल प्लाजा बनाया गया।

एनएचएआइ परियोजना निदेशक मुदित गर्ग ने कहा- दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे एक अप्रैल से आम जनता के लिए खुल जाएगा। टोल की वसूली अत्याधुनिक तकनीकी के आधार पर की जाएगी। उद्घाटन का समय और कार्यक्रम निर्धारित नहीं किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *