मंगल को साथ लेकर भाजपा को सत्ता से बेदखल करने का संकल्प

अलीगढ़ मंडल उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया राजनीति राज्य
  • कासगंज की किसान पंचायत में अखिलेश ने बैकवर्ड कार्ड खेला
  • कासगंज की किसान महापंचायत में जुटी भीड़।

एटा: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भारतीय जनता पार्टी को सत्ता से बेदखल करने के लिए अब बैकवर्ड कार्ड खेल रहे हैं। इसमें उनको महान दल का साथ मिल रहा है। जो शाक्य मौर्य समाज की पार्टी है। कासगंज की रैली में उन्होंने खुलकर ऐलान कर दिया कि समाजवादी पार्टी और महान दल दोनों बैकवर्ड की पार्टी है और भाजपा को सत्ता से हटाना हमारा संकल्प है।
कासगंज की किसान महापंचायत में भारी तादात में एटा और कासगंज क्षेत्र के शाक्य समाज ने भागीदारी की।भीड़ से उत्साहित अखिलेश यादव खुद को रोक नहीं सके और अपने संबोधन में भावना में बहते हुए उन्होंने खुलकर कह दिया आप भी बैकवर्ड हम भी बैकवर्ड मिलकर भाजपा को हराएंगे। अखिलेश यादव ने केशव देव मौर्य को शाक्य समाज का बड़ा नेता बताते हुए कहा कि दोनों मिलकर प्रदेश से और केंद्र से भाजपा को विदा कर देंगे। किसान पंचायत के नाम पर बुलाई गई इस सभा में अखिलेश यादव ने यह दावा किया कि कोरोना में अर्थव्यवस्था को संभाल कर रखने में किसानों का बड़ा हाथ था। इसके बावजूद 4 महीने से किसान सड़कों पर दिल्ली के आस पास पड़ा है और मोदी सरकार उसकी बात सुनने को तैयार नहीं। धान की फसल पर मिलने वाली एमएसपी को भी अखिलेश यादव ने छलावा बताया।
पिछड़ी जातियों को लुभाते हुए महान दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य का भी यही कहना था कि पिछड़ी जाति का समाज आगामी विधानसभा चुनाव में वोट डालते समय डॉक्टर बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को जरूर याद कर ले।अखिलेश यादव की तारीफ में केशव देव मौर्य का कहना था कि उन्होंने आगरा से लखनऊ तक विश्व का सबसे बढ़िया एक्सप्रेस भी बनाया । जिस पर पड़े से बड़ा हवाई जहाज भी उतर सकता है।केशव देव मौर्य ने अपने मतदाताओं को संकल्प दिलाया कि 2022 के चुनाव में हर हाल में अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाना है। इस किसान महापंचायत को महान दल के प्रदेश अध्यक्ष बृज मोहन कुशवाहा। पूर्व केंद्रीय मंत्री सलीम शेरवानी, उदयवीर सिंह एमएलसी पूर्व केंद्रीय मंत्री रामजी लाल सुमन वरिष्ठ सपा नेता सत्तन शाक्य , पटियाली की पूर्व विधायक जीनत खान की बेटी फेरी खान ने भी संबोधित किया।
इस किसान पंचायत में सपा छोड़कर गए कुछ नेताओं की वापसी भी हुई । जीनत खान और उनकी बेटी ने शिवपाल यादव का दामन छोड़कर समाजवादी पार्टी की फिर से सदस्यता ले ली। इस किसान महापंचायत में पूर्व सांसद कैलाश यादव, पूर्व विधायक रामेश्वर यादव, सपा जिला अध्यक्ष एटा परवेज महमूद जुबेरी, वजीर सिंह यादव ब्लॉक प्रमुख शीतलपुर,ब्लॉक प्रमुख अनिल यादव महारेरा रंजीत सिंह यादव जिला उपाध्यक्ष भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *