वेंकटेश्वरा में नयी शिक्षा नीति को लेकर दो दिवसीय राष्ट्रीय कॉन्क्लेव नैप – 2021 का शुभारम्भ

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल राज्य शिक्षा

मेरठ: वैंक्टेश्वरा संस्थान में वैंक्टेश्वरा ग्रुप में भारतीय प्रबन्धन विकास संंघ के संयुक्त तत्वाधान में नयी शिक्षा नीति , समान रूप से प्रभावी क्रियान्वयन एवं इनके द्वारा आत्मनिर्भर भारत विषय पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय कॉन्कलेव (कार्यशाला) का आयोजन किया गया। जिसमें देश के विभिन्न हिस्सों के शिक्षण संस्थानों/विश्वविद्यालयों से व्यक्तिगत रूप से आये 150 से अधिक शिक्षाविदों, वैज्ञानिकों,शोधार्थियों के साथ देशभर के 250 से अधिक शोधार्थियों ने ऑनलाइन प्रतिभाग कर इस नयी शिक्षा नीति द्वारा भारत के विश्व गुरू बनने एवं सशक्त भारत में इसकी भूमिका पर मंथन किया। दूरस्थ शिक्षा के क्षेत्र में लगातार इन्नोवेशन (नवाचारों) के साथ ग्लोबल स्तर पर शोध करने के लिए वैंकेटेश्वरा विश्वविघालय के प्रतिकुलाधिपति डा.राजीव त्यागी को भारतीय प्रबन्धन विकास संघ द्वारा यंग रिसर्चर-2021 के अवार्ड से नवाजा गया। नयी शिक्षा नीति को लेकर आठ एवं नौ मार्च को आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय कॉन्क्लेव नैप – 2021 का शुभारम्भ मुख्य अतिथि विख्यात शिक्षाविद पूर्व कुलपति एवं डीन मैन्जमैन्ट बी.एच.यू. प्रो. एच.के. सिंह, प्रतिकुलाधिपति डा. राजीव त्यागी, कुलपति प्रो. पी. के. भारती, परिसर निदेशक डा. प्रभात श्रीवास्तव, विशिष्ट अतिथि प्रो. राजीव अग्रवाल, कुलसचिव प्रो. पीयूष पाण्डे आदि ने सरस्वती मां की प्रतिमा मे सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित करके किया।
अपने सम्बोघन में मुख्य अतिथि विख्यात शिक्षाविद प्रो. एच.के. सिंह ने कहा कि 2020 भारत के लिए ऐतिहासिक रहा है जहां एक ओर वैश्विक स्वास्थ्य संकट कोरोना ने विकसित देशों समेत पूरी दुनिया को घरों में बन्द रहने के लिए विवश कर दिया वही और भारतवर्ष में इसी 2020 में पहले कोरोना के सफलतम उपचार इसकी वैक्सीन व दूसरी आत्मनिर्भर भारत अभियान एवं तीसरी नयी शिक्षा नीति लाकर यें तीनों ऐतिहासिक काम किये, जिसका पूरी दुनिया ने लोहा माना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *