परिवारवाद का नाम समाजवाद : योगी

उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया राजनीति राज्य लखनऊ मंडल

लखनऊ: बजट पर चर्चा के लिए आंकड़ों के साथ विधानमंडल के दोनों सदनों में पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विपक्षी हमले को भांपते हुए अपनी पूरी तैयारी के साथ थे। उन्होंने न सिर्फ अपनी सरकार की चार वर्ष की उपलब्धियां गिनाई, बल्कि पूर्ववर्ती सपा सरकार की कार्यपद्धति पर भी सवाल खड़े किए। मुख्य विपक्षी दल ने हाथरस में किसान की हत्या के मामले में सरकार को घेरने का प्रयास किया तो योगी के हमलों की धार और पैनी हो गई। सवाल दागा कि हर अपराधी के साथ समाजवादी क्यों जुड़ जाता है, साथ ही दोहराया कि समाजवाद बहुरूपिया ब्रांड हो गया है।
निशाने पर रही सपा
पिछले दिनों राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान खासकर कांग्रेस पर हमलावर रहे मुख्यमंत्री ने बुधवार को बजट सत्र पर चर्चा के दौरान सपा को निशाने पर रखा। विधानमंडल के दोनों सदनों में कुल लगभग 260 मिनट के भाषण में वह सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ सपा पर तीखे हमले करते रहे। सपा सदस्यों की ओर से हाथरस में किसान की हत्या का मुद्दा उठाने पर तीखा पलटवार किया। बोले, सोशल मीडिया पर पूछा जा रहा है कि यह टोपी वाला कौन है? हाथरस की घटना ने टोपी को फिर कठघरे में खड़ा कर दिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज अलीगढ़ में समाजवादी पार्टी का सम्मेलन है। इसके होर्डिग व पोस्टर अपराधी द्वारा लगाए गए। वह भी समाजवादी नेताओं के साथ लगाए गए हैं। योगी ने कहा कि यह क्या साबित करता है? पीडि़त लड़की भी चिल्ला कर बता रही है कि उस अपराधी का संबंध किससे है। सच को स्वीकारने की हिम्मत समाजवादियों में नहीं है। योगी यहीं नहीं ठहरे, कहा कि विपक्ष ने मुख्यमंत्री कार्यालय शास्त्री भवन की दुर्गति कर दी थी। वहां मुख्यमंत्री कभी-कभार ही आते थे। कुछ लोग तो दस मिनट की कैबिनेट बैठक के लिए आते थे। योजनाएं व्यक्ति विशेष या परिवार के लिए बनती थीं। यदि मुख्यमंत्री ही अपने कार्यालय में नहीं बैठेंगे तो राज्य का बेड़ा गर्क होना तय है।
परिवारवाद का नाम समाजवाद
समाजवाद पर योगी का यह हमला विधान परिषद में भी जारी रहा। बोले कि समाजवाद अब बहुरूपिया ब्रांड हो गया है। कहीं परिवारवाद का समाजवाद है, तो कहीं जातिवाद का। जिस समय समाजवादी आंदोलन शुरू हुआ, उस समय के नेता आचार्य नरेन्द्र देव, डा.राम मनोहर लोहिया व जय प्रकाश नारायण का बहुत सम्मान था। चन्द्रशेखर भी सच्चे समाजवादी नेता थे। डा.लोहिया ने कहा था सच्चा समाजवादी वही है, जिसे संपत्ति और संतति का लालच नहीं होता है। आज यह आंदोलन कहां पहुंच गया? योगी ने कहा कि शिवपाल के पास जाएंगे तो वहां समाजवाद प्रगतिशील हो जाता है।
होती थी पिक एंड चूज की राजनीति
योगी ने कहा कि पहले विकास कार्य में भी मेरा-पराया होता था। पिक एंड चूज की राजनीति चलती थी। भाजपा सरकार ने पूरे प्रदेश में एक समान विकास किया। प्रदेश में मुस्लिम आबादी 17 से 19 फीसद है, जबकि उन्हें 30 से 35 फीसद सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। आबादी से ज्यादा लाभ उन्हें मिल रहा है। हमने तुष्टिकरण नहीं किया। ईमानदारी से विकास सभी तक पहुंचाया। उन्होंने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना व श्रंगवेरपुर में निषादराज स्मारक बनाए जाने की भी चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *