सरकार का प्रयास आम समाज को शिक्षा और विकास से वंचित रखना है

meerut उत्तर प्रदेश के मंडल देश देश-दुनिया मेरठ मंडल राजनीति

दिव्य विश्वास,सवांददाता
मेरठ : शिक्षा के मौलिक अधिकार की अवधारणा का ही ह्वास शिक्षा को बाजार की वस्तु बनाकर कंपनियों के हवाले करने का सरकारी लोगों का प्रयास आम समाज के लिए शिक्षा और विकास से वंचित रखने की कोशिश है। यह विचार राम सहाय इंटर कॉलेज, गढ़ रोड, मेरठ में जनपदीय बैठक को संबोधित करते हुए डा.उमेश त्यागी ने कहा कि प्राचीन काल से शिक्षा की सारी जिम्मेदारी शासन की थी,परंतु आज सरकारी से व्यवसाय बनाने पर कटिबद्ध है। जनपदीय संगठन के गठन के लिए बुलाई गई बैठक में जिला विद्यालय निरीक्षक व मंडलीय कार्यालयों की कार्यप्रणाली पर आक्रोश प्रकट करते हुए निर्णय लिया गया कि सरदार पटेल इंटर कॉलेज मेरठ से 31 मार्च 2020 को सेवानिर्वित शिक्षक सत्य प्रकाश त्यागी के पेंशन प्रकरण विभागीय कार्यालय द्वारा जानबूझकर लटकाया जा रहा है। जबकि विभाग षड्यंत्रकारी शिक्षकों को कार्रवाई न कर पुरस्कृत कर रहा है। बैठक में निर्णय लिया गया कि सत्य प्रकाश त्यागी की पेंशन प्रकरण निस्तारित नहीं किया गया तो संगठन 1 सप्ताह बाद निर्णय लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक व उप शिक्षा निदेशक के विरुद्ध आंदोलनात्मक कार्यवाही करेगा। निर्वाचन के संबंध में समिति से सर्वसम्मति से गठन के उद्देश्य से एक समिति का गठन किया गया।

जिसमें डॉक्टर उमेश त्यागी,अरुण पाल,सुशील कुमार सिंह,श्रीचंद शर्मा,सुभाष कौशिक,विजेंदर कुमार ध्यानी को 1 सप्ताह के अंदर जिला कार्यकारिणी की घोषणा करनी होगी। बैठक की अध्यक्षता राजवीर सिंह राठी तथा संचालन विजेंदर कुमार ध्यानी ने किया। बैठक में प्रमुख रूप से अरुण पाल,कर्म सिंह,डा.भगवान यादव,डा.सुखनंदन त्यागी,राकेश शर्मा,युवराज शर्मा,डा.हरिओम त्यागी,हरीश कुमार,संध्या कंसल,दिनेश त्यागी आदि ने संबोधित किया। बैठक के अंत में पुलवामा के 40 शहीदों को 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.